India News24x7 Live

Online Latest Breaking News

प्राचीन कला केंद्र की ओर से शुभकामनाएं….

आपको यह सूचित करते हुए हमें बहुत खुशी हो रही है कि प्राचीन कला केंद्र ने अपनी उपलब्धियों में एक नए अध्याय को जोड़ते हुए केंद्र ने भारतीय शास्त्रीय कलाओं के प्रतिष्ठित गुरुओं के कुशल मार्गदर्शन में केंद्र के मोहाली परिसर में “गुरु शिष्य परम्परा” के तहत “विधिवत तालीम” का एक नया उद्यम शुरू किया है। ।

यहां यह उल्लेख करना प्रासंगिक है कि केंद्र में शास्त्रीय कला के क्षेत्र में तालीम प्राप्त करने वाले विदेशी और भारतीय छात्रों के लिए सभी मूल सुविधाओं के साथ एक सुसज्जित छात्रावास है। विभिन्न देशों से आई सी सी आर और पीकेके छात्रवृत्ति के माध्यम से कुछ छात्र 1 अक्टूबर, 2022 से इस गहन शिक्षण कार्यक्रम में सम्मिलित होकर शिक्षा प्राप्त करेंगे ।

यह हमारे लिए ये अत्यंत प्रसन्नता का विषय होगा अगर आप अपने व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय हमारे अंतरराष्ट्रीय छात्रों और शिक्षकों के साथ 1 अक्टूबर को दोपहर 12:00 बजे केंद्र के गुरु एम.एल. कौसर सभागार , सेक्टर-35/बी, चंडीगढ़ में बातचीत के दौर के लिए उपस्थित होंगे । आपकी उपस्थिति निश्चित रूप से हमें और छात्रों को भी प्रोत्साहित करेगी।

प्राचीन कला केंद्र मीडिया द्वारा दिए जा रहे समर्थन के लिए सदैव ऋणी रहेगा।

उक्त संवादात्मक अभिविन्यास के लिए एक निमंत्रण भी संलग्न है।

लाइव कैलेंडर

November 2022
M T W T F S S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
282930  

LIVE FM सुनें